जेंसी सैमुअल
April 6, 2021

पर्यावरण के अनुकूल स्वच्छता के समर्थक ने जीता नागरिक पुरस्कार

सुब्बुरामन, जिन्हें विभिन्न पर्यावरण-अनुकूल स्वच्छता समाधानों को सफलतापूर्वक स्थापित करने के अलावा, भारत के पहले सामुदायिक पर्यावरण-अनुकूल (इको-सान) शौचालय के निर्माण का श्रेय दिया जाता है, को पद्मश्री से नवाज़ा गया

January 14, 2021

जल के लिए, निर्माण की बजाय खुदाई कहीं बेहतर है

सूखाग्रस्त मराठवाड़ा से कुछ बेहतरीन उदाहरणों से सीख कर, सरकारी कार्यक्रमों के अंतर्गत, पानी की पर्याप्तता के लिए, महंगे ढांचों के निर्माण की बजाय, तालाब खोदने और नदी-नालों को गहरा करने में समझदारी है।

January 5, 2021

कुम्भारवालां गांव में सामुदायिक पहल से बढ़ा, भूजल का स्तर

पानी पंचायत के माध्यम से सामूहिक अभियान द्वारा, महाराष्ट्र के पुणे जिले के सूखा प्रभावित, वर्षा-छाया क्षेत्र (जहाँ पहाड़ के कारण बारिश न पहुंचे) के एक दूरदराज के गाँव को सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी उपलब्ध कराने में मदद मिली है

December 31, 2020

गरीब किसानों के लिए छोटे पम्प एक व्यवहारिक समाधान हैं

हालाँकि सिंचाई के लिए छोटे पम्पों पर उतना ध्यान नहीं दिया जाता, जितना दिया जाना चाहिए, लेकिन असम, झारखंड और ओडिशा जैसे भूजल-संपन्न राज्यों के सबूत यह दिखाते हैं, कि उनके छोटे और सीमांत किसानों के लिए महत्वपूर्ण लाभ हैं

Array ( [marginTop] => 0 [pageid] => [alignment] => left [width] => 292 [height] => 300 [color_scheme] => light [header] => header [footer] => footer [border] => true [scrollbar] => scrollbar [linkcolor] => #2EA2CC )
Please Fill Out The TW Feeds Slider Configuration First