संजीव फंसालकर
September 23, 2021

शुतुरमुर्ग या याचक? ग्रामीण भारत का लापता गृह बीमा

आपदाओं से घर नष्ट हो जाते हैं। आपदा-संभावित क्षेत्रों में रहने के बावजूद, लोग गृह-बीमा नहीं लेते। वे सरकार द्वारा दी जाने वाली आपदा राहत लेना पसंद करते हैं

March 16, 2021

बुंदेलखंड में जनता और प्रशासन के आपसी सहयोग और विश्वास से प्रशस्त हुआ प्रगति का मार्ग

जनपद बाँदा के अभावग्रस्त ग्रामीण समुदाय और प्रशासनिक अधिकारियों ने मिलकर बहुआयामी गतिविधियों के माध्यम से एक अभिनव प्रयोग किया, जो पूरे बुंदेलखंड क्षेत्र के लिए प्रकाश-स्तम्भ साबित हो सकता है।

February 18, 2021

ग्रामीण भारत में सूक्ष्म उद्यमों के व्यापक होते क्षेत्र

आजीविका की व्यापक मांग को पूरा करने के लिए, गाँवों में सूक्ष्म उद्यमों को बढ़ावा देने के लिए, वैसे अलग स्तर के विचारों से लाभ होगा, जो पापड़ और अचार बनाने जैसी साधारण गतिविधियों से हटकर हों

February 11, 2021

गरीबों के बीच टेक्नोलॉजी (प्रौद्योगिकी) का तेजी से प्रसार कैसे किया जाए?

पूरे भारत में मोबाइल फोन और संबंधित दूरसंचार व्यवस्था का बेहतरीन प्रसार से, एक महत्वपूर्ण समझ प्रदान करता है, कि ग्रामीण गरीबों तक नवीनतम टेक्नोलॉजी को कैसे तेज गति से पहुंचाया जा सकता है, और उसकी प्रति यूनिट लागत को उपयुक्त किया जा सकता है

Array ( [marginTop] => 0 [pageid] => [alignment] => left [width] => 292 [height] => 300 [color_scheme] => light [header] => header [footer] => footer [border] => true [scrollbar] => scrollbar [linkcolor] => #2EA2CC )
Please Fill Out The TW Feeds Slider Configuration First