रीना मुखर्जी
September 9, 2021

अवसरों का लाभ उठाते हुए आदिवासी महिलाएं बनी सूक्ष्म उद्यमी

सही सहयोग की बदौलत, खूंटी की महिलाएं चुनौतियों से निपटते हुए, उद्यमी के रूप में उभरी हैं। महामारी के समय प्रत्येक महिला का सूक्ष्म कारोबार उसके परिवार का आर्थिक आधार रहा है

July 20, 2021

सशक्त महिला डेयरी किसानों ने छोड़ा प्रभाव

डेयरी सहकारी समितियों के विकास के साथ, जिनमें से कुछ विशेष रूप से महिलाओं के लिए थी, दुग्ध उत्पादन ने कृषि आय को पूरक बनाते हुए, पूर्ण विकसित व्यवसाय और सफल महिला सूक्ष्म-उद्यमियों को जन्म दिया है।

July 13, 2021

कृषि कार्य में बढ़ने से महिलाओं के पोषण पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है

घरेलू जरूरतों को पूरा करने के साथ-साथ कृषि गतिविधियों में ज्यादा समय लगाने से, महिलाओं को उचित भोजन पकाने के लिए बहुत कम समय मिलता है, जिससे उनके पोषक तत्वों का सेवन प्रभावित होता है

May 25, 2021

किशोरी बालिकाओं में बढता कुपोषण: स्वस्थ भारत के अस्वस्थ युवाओ की कहानी बताता हुआ

कोरोना महामारी के इस दौर में ऐसी बहुत सी बीमारियां हैं, जो मानव जीवन को धीरे धीरे अपना शिकार बना रही हैं। महामारी के दौर में ऐसी समस्याओं पर सरकार एवं समाज का ध्यान कम ही जा रहा है| ऐसी ही एक व्यापक समस्या कुपोषण को है, जो युवाओं विशेषकर किशोरी बालिकाओं में काफी पाया जा रहा है। ऐसी ही परिस्थिति राजस्थान के ग्रामीण अंचलो में धीरे धीरे बढती जा रही है| इसके लिए सामाजिक रीती-रिवाज़ एवं जागरुकता की कमी के साथ साथ सरकारी कार्यक्रमों की पहुँच जिम्मेदार है|

Array ( [marginTop] => 0 [pageid] => [alignment] => left [width] => 292 [height] => 300 [color_scheme] => light [header] => header [footer] => footer [border] => true [scrollbar] => scrollbar [linkcolor] => #2EA2CC )
Please Fill Out The TW Feeds Slider Configuration First