रमा शर्मा
May 25, 2021

किशोरी बालिकाओं में बढता कुपोषण: स्वस्थ भारत के अस्वस्थ युवाओ की कहानी बताता हुआ

कोरोना महामारी के इस दौर में ऐसी बहुत सी बीमारियां हैं, जो मानव जीवन को धीरे धीरे अपना शिकार बना रही हैं। महामारी के दौर में ऐसी समस्याओं पर सरकार एवं समाज का ध्यान कम ही जा रहा है| ऐसी ही एक व्यापक समस्या कुपोषण को है, जो युवाओं विशेषकर किशोरी बालिकाओं में काफी पाया जा रहा है। ऐसी ही परिस्थिति राजस्थान के ग्रामीण अंचलो में धीरे धीरे बढती जा रही है| इसके लिए सामाजिक रीती-रिवाज़ एवं जागरुकता की कमी के साथ साथ सरकारी कार्यक्रमों की पहुँच जिम्मेदार है|

May 4, 2021

‘वैवाहिक आशीर्वाद’ से महिलाओं को प्रजनन तंत्र को समझने में मदद मिली

परम्परागत फूलो-फलो आशीर्वाद, जो हर नवविवाहित जोड़े को मिलता है, एक भौतिकवादी आशीर्वाद लगता है। जनन-क्षमता को लेकर इसके गहरे मतलब के अनुसार, यह महिलाओं को प्रजनन स्वास्थ्य को समझने में मदद करता है

February 25, 2021

किशोरियाँ पूर्ण सशक्तिकरण की दिशा में आगे बढ़ी

दमनकारी नियम-कायदों ने किशोरियों को खराब स्वास्थ्य और शीघ्र विवाह की ओर धकेल दिया। समूहों में एक साथ लाने से, उन्हें अपने स्वास्थ्य में सुधार करने, बाल विवाह को रोकने और व्यावसायिक कौशल सीखने में मदद मिली है

January 28, 2021

स्तन कैंसर के खतरे से अनजान हैं ग्रामीण महिलाएं

स्तन कैंसर को लेकर जानकारी का अभाव, भ्रांतियों, लज्जा और सामाजिक लांछन के कारण, विशेष रूप से ग्रामीण महिलाओं को जीवन गंवाना पड़ता है या दुष्कर जीवन जीना पड़ता है

Array ( [marginTop] => 0 [pageid] => [alignment] => left [width] => 292 [height] => 300 [color_scheme] => light [header] => header [footer] => footer [border] => true [scrollbar] => scrollbar [linkcolor] => #2EA2CC )
Please Fill Out The TW Feeds Slider Configuration First