अजीत कानितकर
September 24, 2020

वारोती ग्रामवासियों ने किया सामूहिक कार्यों की शक्ति का प्रदर्शन

ग्रामवासियों, गैर-लाभकारी संस्था कार्यान्वयन और कॉर्पोरेट लोकोपकारी फाउंडेशन के सक्रिय तालमेल ने, महाराष्ट्र के वरोती गांव में, कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी (CSR) के माध्यम से, विकास कार्यों के लिए एक नया रास्ता दिखाया है

August 11, 2020

झारखंड के आदिवासी किसान कृषि-आधारित आय कैसे बढ़ाते हैं

मध्य भारतीय आदिवासी क्षेत्र में, किसानों की आय में टिकाऊ वृद्धि के लिए चल रहे कार्यक्रम - “लखपति किसान”, के माध्यम से किसानों ने कृषि-आधारित विभिन्न आजीविकाओं को सफलतापूर्वक अपनाया है

May 7, 2020

कोरोना वायरस से जुड़ी भ्रांतियों के कारण, हजारों छोटे महिला मुर्गीपालक किसानों को व्यवसाय में हुआ घाटा

मुर्गी का मांस खाने से कोरोना वायरस फैलने की अफवाह के चलते, उन दस हजार से अधिक आदिवासी और दलित छोटे मुर्गीपालक किसानों को अपनी मुर्गियों को मारने के लिए मजबूर होना पड़ा है, जिन्होंने सफलतापूर्वक सहकारी उद्यमों का निर्माण करते हुए गरीबी से मुक्ति पाई थी

April 21, 2020

लॉकडाउन के दौरान किसानों और उपभोक्ताओं के बीच सेतु बनी किसान उत्पादक कंपनी

परिवहन व्यवस्था नहीं होने से, एक ओर किसानों की उपज नहीं बिकी, वहीं उपभोक्ताओं को सब्जियां नहीं मिल रही थी। विशेष अनुमति प्राप्त करके और ऑर्डर के लिए एक मोबाइल ऐप की सहायता से एक नवाचार-परक फार्मर्स प्रोड्यूसर कंपनी (एफपीसी) ने दोनों जरूरतों को पूरा किया है