पीयूष वडोदरिया
April 13, 2021

जैविक कपास उगाकर किसान हुए “हरित”

जैविक खेती के तरीके अपनाने के फलस्वरूप मृदा-स्वास्थ्य (मिट्टी की गुणवत्ता) में सुधार हुआ है। जैविक कपास का बाजार में उतना ही मूल्य मिलने के बावजूद, इससे किसानों के लिए खेती की लागत कम हुई है

August 27, 2020

सिंचाई के सम्बन्ध में वर्षा-जल संग्रहण भविष्य का सबसे अच्छा विकल्प है

भारत में जैसे जैसे गहन खेती का विस्तार हो रहा है, उसके लिए बहु-फसलीय खेती में भूजल के अव्यवहारिक लगातार मौजूदा उपयोग की बजाय, वर्षा-जल संग्रहण को तत्काल रूप से बढ़ावा देने की जरूरत है।

Array ( [marginTop] => 0 [pageid] => [alignment] => left [width] => 292 [height] => 300 [color_scheme] => light [header] => header [footer] => footer [border] => true [scrollbar] => scrollbar [linkcolor] => #2EA2CC )
Please Fill Out The TW Feeds Slider Configuration First