संजीव फंसालकर
February 18, 2021

ग्रामीण भारत में सूक्ष्म उद्यमों के व्यापक होते क्षेत्र

आजीविका की व्यापक मांग को पूरा करने के लिए, गाँवों में सूक्ष्म उद्यमों को बढ़ावा देने के लिए, वैसे अलग स्तर के विचारों से लाभ होगा, जो पापड़ और अचार बनाने जैसी साधारण गतिविधियों से हटकर हों

August 6, 2020

बहु-आयामी योजना से मिलेगी पूर्वोत्तर में टिकाऊ अर्थव्यवस्था बनाने में मदद

अपनी गत समय की सामाजिक अस्थिरता और आजीविका अवसरों की कमी के कारण विकास में पिछड़ गया। महामारी से क्षेत्र को एक नई अर्थव्यवस्था विकसित करने का अवसर मिला है

Array ( [marginTop] => 0 [pageid] => [alignment] => left [width] => 292 [height] => 300 [color_scheme] => light [header] => header [footer] => footer [border] => true [scrollbar] => scrollbar [linkcolor] => #2EA2CC )
Please Fill Out The TW Feeds Slider Configuration First