बिरेन कुमार हेम्बोर्म
March 4, 2021

मदद के लिए बढ़े हाथों ने, भुखमरी के कगार पर पहुंचे झारखंड के किसानों को बचाया

लॉकडाउन के दौरान, भुखमरी के कगार पर पहुँच चुके किसानों की ‘वल्नरेबल मैपिंग’ के माध्यम से पहचान की गई। बेहतर गुणवत्ता वाले बीज और बेहतर तरीकों के लिए प्रशिक्षण के कारण, वे बेहतर पैदावार ले रहे हैं

November 3, 2020

लौट कर आए प्रवासियों ने आजीविका के लिए अपनाई तस्करी

भारत - बांग्लादेश सीमा के नजदीक पश्चिम बंगाल के गाँवों में, लॉकडाउन के दौरान घर वापस आए प्रवासियों को आर्थिक सहारे के लालच में तस्करी में डाल दिया गया है

October 20, 2020

लॉकडाउन से, खानाबदोश (घुमन्तु) चरवाहों के रास्तों में आई, नई कठिनाइयाँ

ग्रीष्मकालीन चरागाहों की ओर प्रवास और संयोगवश पहले लॉकडाउन के उसी समय होने और आवाजाही पर भारी प्रतिबंधों के कारण, चरवाहों को भेदभाव के अलावा, चरागाहों, पानी और चारे का अभाव झेलना पड़ा

October 15, 2020

ऑनलाइन कक्षाएं, ग्रामीण लड़कियों की शिक्षा का अंत है

घर में एकमात्र मल्टीमीडिया फोन के इस्तेमाल के लिए लड़कों को वरीयता मिलने के कारण, गरीब ग्रामीण परिवारों की लड़कियों ने पढ़ाई छोड़ दी, और खुद को जल्द शादी की स्थिति के हवाले कर दिया

Array ( [marginTop] => 0 [pageid] => [alignment] => left [width] => 292 [height] => 300 [color_scheme] => light [header] => header [footer] => footer [border] => true [scrollbar] => scrollbar [linkcolor] => #2EA2CC )
Please Fill Out The TW Feeds Slider Configuration First